जिंदगी क्या थी और क्या हो गई

Updated: Aug 13, 2021




Illustration Courtesy: https://in.pinterest.com/pin/245375879687426537/

जिंदगी क्या थी और ये क्या हो गई

जो भी दिल में भरी सब हवा हो गई

लोगों के बिछड़ने का सिलसिला यूं चला

जैसे खुद से मिलकर खुद खफा हो गई


न जाने कितने हमें छोड़ कर चले गए

रहते थे जो दिल में, मुंह मोड़ कर चले गए

राह तकती हैं आंखें आज भी उन रिश्तों को

वो रिश्त-ए-बफा भी अपने आप में ख़फा हो गई


ऐ खुदा अब तो सब ठीक कर दो तुम

खबर खराब सुन सुनकर हर दवा हो गई

काश फिर कोई अच्छी खबर आए फिजां से

अब तो हवा भी सुना है हवा हो गई


काश फिर जहां पहले जैसा हो जाए

हर तरफ खुशी कोई ना परेशान होने पाए

मिले ईद सब एक दूसरे को गले मिलकर

ये दुआ ही सब के दिल की दवा हो गई


जिंदगी क्या थी और ये क्या हो गई

जो भी दिल में भरी थी हवा हो गई

8 views0 comments

Recent Posts

See All